इमरान कुरैशी को 'सितारा-ए-इम्तिआज़' अवॉर्ड

दुनिया के तमाम प्रमुख कला केंद्रों के साथ-साथ दिल्ली और मुंबई में कई मौकों पर समूह प्रदर्शनियों व एकल प्रदर्शनियों में अपना काम प्रदर्शित कर चुके पाकिस्तानी चित्रकार इमरान कुरैशी को पाकिस्तान के प्रतिष्ठित 'सितारा-ए-इम्तिआज़' अवॉर्ड से नवाज़ा गया है । पाकिस्तान के राष्ट्रपति डॉक्टर आरिफ अल्वी ने उन्हें अवॉर्ड दिया । दो वर्ष पहले, वर्ष 2018 में दिल्ली में आयोजित इंडिया ऑर्ट फेयर में एक पूरा बूथ उनके काम से सुसज्जित था, जिसे देखने का सुअवसर मुझे भी मिला था । इमरान को पाकिस्तान में मिनियेचर कला परंपरा को पुनर्जीवन देने का श्रेय दिया जाता है । उनके काम में प्राचीनता और आधुनिकता, परंपरा और समकालीनता, धार्मिकता और धर्मनिरपेक्षता के बीच संवाद के भाव जिस सहजता व प्रखरता से अभिव्यक्ति पाते महसूस होते हैं, वह कल्पनाशील सृजनात्मकता की नई उड़ानों से परिचित करवाते हैं । बड़े आकार और पृष्ठभूमि में किए गए इंस्टॉलेशंस में उन्होंने अभिनव प्रयोग किए हैं । माध्यम और विषयों को लेकर इमरान का चौकन्नापन तथा प्रयोगशीलता चकित करने वाली है । दिल्ली व मुंबई की कई नितांत निजी ऑर्ट गैलरीज के अलावा त्रिवेणी कला संगम, इंडिया इंटरनेशनल सेंटर तथा नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न ऑर्ट जैसे दिल्ली के लोकप्रिय कला केंद्रों में भी इमरान कुरैशी का काम प्रदर्शित हो चुका है ।

Comments

Popular posts from this blog

विवान सुंदरम को समकालीन भारतीय कला की हत्या का जिम्मेदार ठहरा कर जॉनी एमएल समकालीन भारतीय कला के दूसरे प्रमुख कलाकारों को भी अपमानित करने का काम नहीं कर रहे हैं क्या ?

प्रख्यात चित्रकार गोपी गजवानी की फिल्मों में अभिव्यक्त 'स्थितियाँ' हमारे 'देखने' को बहु-आयाम में देखना बनाती हैं

'चाँद-रात' में रमा भारती अपनी कविताओं की तराश जिस तरह से करती हैं, उससे लगता है कि वह सिर्फ कवि ही नहीं हैं - असाधारण शिल्पी भी हैं